What is the Full Form Of NGO – एनजीओ की पूरी जानकरी हिंदी में

पर Sonu द्वारा प्रकाशित

Full Form of NGO

What is the Full Form of NGO?

NGO Full Form is, “Non Governmental Organization” होता है।

What is the Full Form of NGO in Hindi?

NGO Ka Full Form Hindi Me, “गैर सरकारी संगठन” होता है।

What is NGO?

NGO एक Private Organization है, जो न तो सरकार का हिस्सा है और न ही पारंपरिक व्यवसाय है। यह एक ऐसा संगठन है, जो वरिष्ठ नागरिक, गरीबों, शिक्षा आदि से संबंधित समस्याओं को हल करने के लिए काम करते है। इस संगठन में सरकार की कोई भी भूमिका नही होती है और न ही गैर व्यवसाय के लिए किया गया है। इस संगठन को आम नागरिकों द्वारा बनाया गया है।

इस संगठन का सिर्फ एक ही उदेश्य है, वह है समाज का कल्याण करना है। इस संगठन को कोई भी व्यक्ति चला सकता है।

What is the Definition of NGO?

NGO एक ऐसा संगठन है, जो न तो गैर व्यवसाय के लिए बनाया गया है और न ही सरकार का हिस्सा है। यह एक Private Organization है, जो लोगों ने मिलकर कर बनाया है, ताकि बच्चों, वरिष्ठ नागरिकों, गरीबों आदि जैसे लोगों की मदद कर सके।

सरल भाषा में कहा जाए तो, यह एक अपने देश से जुड़े कुछ समस्याओं को हल करने के लिए लोगों द्वारा बनाया गया एक संगठन है।

Some Famous NGOs Of India-

भारत में 10 सबसे प्रसिद्ध NGOs है, जिन्होंने अबतक बहुत अच्छा काम किया है, और उम्मीद करते है कि आगे भी अच्छा काम करते रहे। नीचे आप प्रसिद्ध NGOs के नाम देख सकते है-

  • Akshay Trust
  • Deepalaya
  • Goonj
  • Karmayog
  • Sargam Sanstha
  • Smile Foundation
  • Sammaan Foundation
  • Pratham
  • Uday Foundation
  • Udaan Welfare Foundation

What are the Types of NGOs?

यदि आप NGO शुरू करना चाहते है तो आपको NGO के कितने प्रकार होते है, यह जानना आवश्यक है। नीचे NGO के प्रकार देख सकते है-

  • BINGO: Business-Friendly International NGO
  • SBO: Social Benefit Organization
  • TANGO: Technical Assistance NGO
  • GONGO: Government-Organized Non-Governmental Organization
  • DONGO: Donor-Organized NGO
  • INGO: International NGO
  • Quango: Quasi-Autonomous NGO
  • CSO: Civil society organization
  • ENGO: Environmental NGO
  • NNGO: Northern NGO
  • PANGO: Party NGO
  • SNGO: Southern NGO
  • SCO: Social Change Organization
  • TNGO: Transnational NGO
  • GSO: Grassroots Support Organization
  • MANGO: Market Advocacy NGO
  • NGDO: Non-Governmental Development Organization
  • PVDO: Private Voluntary Development

यह सभी NGO के प्रकार है, जिनके काम अलग अलग होते है।

What is NGO Work?

NGO का सिर्फ एक ही उद्देश्य है, वो है गरीबों की मदद करना। NGO द्वारा कई कार्य किये जाते है, जैसे कि गरीबों की मदद करना, गरीब बच्चों को शिक्षा देना, बुजुर्गों की मदद करना आदि।

यह सभी कार्य अपने स्वयंसेवकों के साथ मिलकर किया जाता है, ताकि एक राष्ट्र सामाजिक रूप से विकसित हो सके। दुनिया भर में विभिन्न प्रकार के NGO है, जो मानव कल्याण के उद्देश्य से कार्य करते है। यह संगठन विकास की एक नई दिशा में ले जाना है।

How to create an NGO?

NGO कोई भी बना सकता है, लेकिन NGO संस्था बनाने के कुछ नियम है, जो आपको समझना होगा। NGO के हर राज्य में अलग अलग नियम होते है। यदि आप इन सभी नियमों को Follow करते है, तो आप आसानी से NGO बना सकते है। तो चलिए जानते है NGO कैसे बनते है-

  • सबसे पहले आपको NGO का सदस्य बनान होगा।
  • एनजीओ के गठन के लिए आपके पास कम से कम 7 सदस्य होना जरूरी है।
  • NGO के गठन के लिए अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव, कोषाध्यक्ष, सलाहकार आदि सदस्य तय करना होगा।
  • NGO का गठन होने के बाद आपको लोगों की परेशानियों को पहचानना होगा।

Note: यदि आप Ngo बनाना चाहते है, तो इसके लिए आपके पास पैसे और नेटवर्किंग होना आवश्यक है।

Documents required for NGO?

  • Identity Proof (Voter ID/ Aadhar Card, etc)
  • Passport (mandatory)
  • Proof of residence ( Electricity/ Telephone/ Mobile Bill or Bank Statement).
  • Registered Office Address Proof (Rent agreement if the premises is not owned by the company).
  • Documents claiming the ownership such as Sale Deed or House Tax receipt along with a NOC.
  • At least two shareholders
  • Minimum two directors
  • Shareholders and Directors could be the same.
  • At least one Director should be an Indian resident
  • There is no minimum capital required.
  • Income tax PAN (mandatory)

NGO Registration

भारत में NGO के Registration करने के लिए 3 Process होता है। आप उस 3 Act में किसी एक Act में Registration कर सकते है।

Trust Act

इस Act में Registration करना चाहते है, तो आपको पहले Charity Commissioner या Registrar के Office में आवेदन देना होगा। Trust Act के अंतर्गत NGO Register करने के लिए Deed Document लगाना आवश्यक है।

Society Act

इस Act में आप NGO को Society Act के रूप में Register कर सकते है, लेकिन इस Act में Registration करने के लिए आपके पास 7 सदस्यों का होना आवश्यक है।

Companies Act

इस Act में आप NGO को Companies Act के रूप में Register कर सकते है, लेकिन इस Act में भी Registration करने के लिए आपके पास 3 सदस्यों का होना आवश्यक है।

When is NGO Day celebrated?

विश्व एनजीओ दिवस प्रतिवर्ष 27 फरवरी को मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर के विभिन्न गैर सरकारी संगठनों के साथ जश्न मनाने और सहयोग करने के लिए मनाया जाता है। इस दिन का उद्देश्य लोगों को सार्वजनिक और निजी दोनों क्षेत्रों में गैर सरकारी संगठनों के साथ सक्रिय रूप से शामिल होने के लिए प्रेरित करना है।

Conclusion

मुझे उम्मीद हैं कि आपको मेरी यह लेख Full Form of NGO की जानकारी पसंद आई होगी। यदि आपको लगता हैं कि इस पोस्ट में कुछ सुधार होनी चाहिए, तो हमे कमेंट्स में जरूर बताएं। यदि आपको लेख अच्छी लगी, तो अपने सोशल मिडिया पर शेयर करना न भूले।


0 टिप्पणियाँ

प्रातिक्रिया दे

Avatar placeholder

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *