दिवाली पर निबंध हिंदी में – Diwali Essay in Hindi

भारत और अन्य देशों में दीपावली बड़े ही धूम धाम से मनाया जाता हैं। यह भारत में मनाए जाने वाला सबसे बड़ा त्यौहार हैं। आज हम आपको इस पोस्ट में दीपावली (Diwali Essay in Hindi) के बारे में जानकारी देने वाले हैं, जैसे कि दीपावली क्यों मनाया जाता हैं, दीपावली का अर्थ क्या हैं, दीपावली कैसे मनाया जाता हैं, दीपावली के दिन क्या किया जाता हैं, दीपावली पर निबंध और बहुत कुछ बताने वाले हैं।

कई स्कूलों और कॉलेजों में छात्रों को दीपावली पर निबंध लिखने के लिए कहा जाता हैं। कई स्कूलों, कॉलेजों और अन्य जगहों पर दीवाली पर निबंध लिखने को लेकर प्रतियोगिता भी लिया जाता हैं, इसलिए बहुत सारे छात्र Diwali Essay in Hindi में खोजते हैं।

इसलिए हमने आपके लिए नीचे शार्ट निबंध और लोंग निबंध की जानकारी प्रदान की हैं, नीचे आप जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Diwali Essay in Hindi – दिवाली निबंध हिंदी में

दिवाली पर निबंध (500 – 600 Words Essay)

भारत को त्योहारों का देश कहा जाता हैं, क्योंकि यहाँ सबसे ज्यादा त्यौहार मनाया जाता हैं। यहाँ बहुत सारे प्रमुख त्योहार हैं, जैसे होली, ईद, रक्षाबंधन, गणेश चतुर्थी, दसहरा, नवरात्रि और बहुत सारे त्यौहार मनाए जाते हैं, लेकिन दीपावली सबसे अधिक प्रमुख त्यौहार हैं।

दीपावली को दीपों का त्यौहार भी कहा जाता हैं। इस त्यौहार को भारत में ही नहीं, बल्कि पुरे देश में मनाया जाता हैं। दीपावली एक हिन्दू त्यौहार हैं, जो अच्छाई और जीत का प्रतीक हैं।

हिंदू ग्रंथ रामायण में बताया गया हैं, की जब श्री राम लंकापति रावण को पराजित करने के बाद, 14 साल वनवास काटने के बाद भगवान श्री राम अपने राज्य अयोध्या लौटे थे। इसी दिन अयोध्या में भगवान श्री राम के स्वागत के लिए दीपक जलाया गया था। इसी दिन से आज तक यह बड़े ही उत्साह के साथ दीपावली मनाया जाता हैं।

Deepavali Essay Writing
Deepavali Essay Writing

हिन्दू ग्रन्थ में यह भी बताया गया हैं, की इसी दिन देवी लक्ष्मी का जन्म हुआ था और इसी वजह से दीपावली पर लक्ष्मी जी की पूजा की जाती हैं। दीपावली के दिन हर घरों में शांति, धन और ऐश्वर्य की कामना की जाती हैं।

दीप जलाने की प्रथा कई अलग-अलग कारण और कहानियां जुड़ी हुई हैं। कहा जाता हैं कि इसी दिन श्री कृष्ण ने राजा नरकासुर का वध किया था।

दिवाली के कुछ दिन पहले से ही लोग अपने घरों को साफ करने में लग जाते हैं। दिवाली कार्तिक मास की अमावस्या के दिन मनाया जाता हैं, जो भारतीय कैलेंडर के अनुसार अक्टूबर या नवंबर महीने में पड़ता हैं।

दीपावली के पांच दिन पहले से ही लोग अपने घरों को सजाते हैं और उन्ही पांच दिनों में खाद्य पदार्थ जैसे कि बादाम दिप, मालपुए, चूरमे के लडू, गुलाब जामुन, चकली, करंजी और बहुत कुछ बनाया जाता हैं।

दीपावली के कुछ दिन पहले से ही बाजारों में भीड़ लग जाती हैं, क्योंकि बच्चों के लिए नए कपड़े, मिठाइयां, दिए, मोमबत्तियां, फटाके और बहुत कुछ ख़रीदारी की जाती हैं। इस दिन बजरों को खूबसूरती से सजा दिया जाता हैं।

दीपावली के दिन सबसे ज्यादा मिठाइयों के दुकानों में भीड़ लग जाती हैं, क्योंकि इस दिन रिश्तेदारों, दोस्तों, और अपने कामगारों को मिठाइयां दी जाती हैं। कामगारों को मिठाइयां के साथ साथ उपहार भी दिया जाता हैं।

दीपावली पांच दिन मनाया जाता हैं। पहले दिन धनतेरस मनाया जाता हैं। इस दिन लोग नए नए चीजों की खरीदारी करते हैं। इस दिन सबसे ज्यादा बर्तन की खरीदारी की जाती हैं, क्योंकि यह बहुत शुभ होता हैं। इस दिन लक्ष्मी देवी और श्री गणेश की पूजा की जाती हैं।

लोग लक्ष्मी देवी और श्री गणेश को खुश करने के लिए मन से आरती, मंत्र और भक्ति गीत गाए जाते हैं। दूसरे दिन छोटी दीवाली के रूप में मनाया जाता हैं। इस दिन भगवान श्री कृष्ण को खुश करने के लिए पूजा की जाती हैं, क्योंकि इस दिन उन्होंने राजा नरकासुर का वध किया था। तीसरे दिन दीपावली के रूप में मनाया जाता हैं।

इस दिन अपने दोस्तों, रिश्तेदारों, पड़ोसियों को मिठाई दी जाती हैं। इस दिन देवी लक्ष्मी की पूजा की जाती हैं और लोगों को प्रसाद दिया जाता हैं। इस दिन बच्चे फटाके फोड़ते हैं और रात को सोते समय काजल लगते हैं।

चौथे दिन श्री कृष्ण की पूजा की जाती हैं और इसे गोवर्धन पूजा के रूप में मनाया जाता हैं। इस दिन लोग पूजा करके गोबर का गोवर्धन बनाया जाता हैं। पांचवे दिन भाइयों और बहानों का त्यौहार होता हैं, जो भाई दौज के रूप में मनाया जाता हैं। इस दिन बहन अपने भाइयों को आमंत्रित करके जश्न मनाया जाता हैं।

दिवाली पर निबंध (300-400 Words Essay)

दिवाली एक बड़ा त्यौहार हैं, जो भारत में ही नहीं, बल्कि अन्य देशों में भी मनाया जाता हैं। भारत में कई त्यौहार मनाए जाते हैं, इसलिए भारत को त्यौहारों का देश भी कहा जाता हैं।

भारत में प्रमुख त्यौहार हैं, जैसे कि होली, ईद, रक्षाबंधन, दसहरा, नवरात्रि, गणेश चतुर्थी और बहुत सारे त्यौहार मनाए जाते हैं, लेकिन दीपावली का त्यौहार एक बड़ा त्यौहार हैं, जो खुशी और उल्लास के साथ मनाया जाता हैं।

छोटे छोटे बच्चे दीपावली आने का इंतजार करते हैं, क्योंकि बच्चों को मिठाइयां खाने और फटाके जलाने में बड़ा मजा आता हैं। दीपावली स्कूल, कॉलेज और दफ्तारों में मिठाइयां और उपहार दिया जाता हैं और इस त्यौहार को धूम धाम से मनाया जाता हैं।

ग्रन्थ रामायण में लिखा गया हैं कि भगवान श्री राम ने लंका में रावण को पराजित करके, देवी सीता को लेकर, 14 साल वनवास काटकर अयोध्या लौटे थे। उस दिन सभी लोगों ने खुशी से दिए जलाए थे।

उसी दिन से दीपावली बड़ी ही खुशी और उत्साह के साथ मनाया जाता हैं। दीपावली का त्योहार दशहरे के 21 दिन बाद अक्टूबर या नवंबर में मनाया जाता हैं, जो कार्तिक मास की आमवस्या के दिन मनाया जाता हैं। दीपावली के एक हफ्ते पहले से ही स्कूल, कॉलेज और दफ्तरों में साफ-सफाई की जाती हैं।

दिवाली पांच दिन मनाया जाता हैं। इस पांच दिनों में बाजारों में भीड़ लग जाती हैं। इस पांच दिनों में लोग बाजारों में खरीदारी करते हैं। बच्चो के लिए नए कपड़े, गेम्स, मिठाइयां, फटाके और बहुत कुछ खरीदारी की जाती हैं।

धनतेरस के दिन लोग नए नए सामान खरीदते हैं। इस दिन सबसे ज्यादा बर्तन की खरीदारी की जाती हैं। इस दिन सामान और देवी लक्ष्मी की पूजा की जाती हैं। इस दिन मन से गीत, मंत्र, आरती और भक्ति गीत गई जाती हैं।

दीवाली के दिन लोग अपने दोस्तो, रिश्तेदारों और पड़ोसियों को मिठाई और उपहार दिया जाता हैं। इस दिन लक्ष्मी देवी और श्री गणेश की पूजा किया जाता हैं। इस दिन बच्चें बाहर निकल कर फटाके फोड़ते हैं। भारत में दीपावली सभी लोगों के लिए खुशियां लेकर आती हैं।

दिवाली पर निबंध (100-200 Words)

दिवाली सभी लोगों के लिए खुशियां लेकर आता हैं। भारत में विभिन्न धर्मों के लोग अपने अपने त्यौहार को अपनी परंपरा के अनुसार मनाते हैं। भारत में सबसे ज़्यादा त्यौहार मनाया जाता हैं, इसलिए इसे त्यौहारों का देश कहा जाता हैं।

यहाँ प्रमुख त्यौहार मनाए जाते हैं, लेकिन दीपावली प्रमुख त्यौहार हैं। दीपावली संस्कृत के दो शब्दों से मिल कर बनता हैं, दिप + आवली। दिप का अर्थ ‘दीपक’ और ‘आवली’ का अर्थ ‘लाइन’ या ‘श्रृंखला’ होता हैं, जिसका अर्थ “दीपों से सजा” होता हैं।

दीपावली को रोशनी का त्यौहार कहा जाता हैं, क्योंकि पूरा देश दीपों से सजा होता हैं। दिवाली का त्यौहार दशहरे के 21 दिन बाद मनाया जाता हैं। दशहरे के बाद से ही लोग दीपावली की तैयारी में लग जाते हैं।

स्कूल, कॉलेज और दफ्तारों में साफ-सफाई की जाती हैं। दीपावली के दिन बच्चें और बड़े सभी लोग नए कपड़े पहनते हैं।

इस दिन घरों के बाहर सुंदर सुंदर रंगोली बनाते हैं। इस दिन श्री गणेश और देवी लक्ष्मी की पूजा की जाती हैं। इस दिन बच्चें मिठाइयां खाते हैं और फटाके जलाते हैं। इस दिन आतिशबाजी और फाटकों की आवाजों से पूरा आकाश गूंज उठता हैं।

Diwali Essay – Information About Diwali in Hindi

Diwali Greetings
Diwali Greetings

मुझे उम्मीद हैं कि आपको मेरी यह लेख Diwali Essay in Hindi की जानकारी पसंद आई होगी। हमें आशा हैं की Information About Diwali in Hindi पढ़कर आपको दिवाली त्यौहार की जानकारी मिल गई हैं।

यदि आपको लगता हैं कि इस पोस्ट में कुछ सुधार होनी चाहिए, तो हमे कमेंट्स में जरूर बताएं। यदि आपको लेख अच्छी लगी, तो अपने सोशल मिडिया पर शेयर करना न भूले।

Leave a Comment